50 लाख की फिरौती के लिए बंधक बनाए गए पानीपत के व्यापारी को फरीदाबाद में बचाया

0

Faridabad News (citymail news ) पचास लाख रुपए की फिरौती के लिए पानीपत के एक व्यापारी को बंधक बनाने का मामला सामने आया है। इस फिरौती कांड को फरीदाबाद की एक महिला ने अंजाम दिया था। इसमें उसके साथ दो लोग भी शामिल थे। पुलिस ने आरोपी महिला सहित तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

  • ऐसे बंधक बनाया व्यापारी को-

पानीपत निवासी सुनील ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि करीब दो साल पहले उनकी दुकान में काम करने वाली एक युवती के सुझाव पर रोशनी नाम की महिला से टीर्शट खरीदी थी। इसके बाद युवती रोशनी उसके साथ दोस्ती करना चाहती थी। लेकिन इसके लिए उसने मना कर दिया। इस घटना के दो साल बाद रोशनी ने उसे नए नंबर से फोन कर बात करनी शुरू कर दी। इसके बाद लॉकडाऊन में काम मंदा होने का हवाला देकर रोशनी ने उससे कुछ रुपए की मदद मांगी थी। बार बार फोन कर युवती ने सुनील से सहायता मांगी। इस पर सुनील फरीदाबाद के सैक्टर 45 स्थित रेल विहार अपार्टमेंट में आया था। लेकिन यहां उसे बंधक बनाकर पिस्तौल के बल पर मारपीट करते हुए पचास लाख रुपए मांगे गए।

  • महिला के साथ थे दो और आरोपी-

फ्लैट में रोशनी के साथ अरूण व राजबीर नाम के दो व्यक्ति पहले से ही मौजूद थे। तीनों ने मिलकर सुनील के साथ मारपीट की और उसके कपड़े फाडकर पचास लाख रुपए मांगे। लेकिन सुनील ने उनसे साफ कहा कि उसके पास पचास लाख रुपए नहीं हैं। इस पर आरोपियों ने बीस लाख रुपए मांगे, लेकिन सुनील ने साफ कहा कि उसे कितना ही मारपीट लो, उसके पास इतने रुपए नहीं हैं। अंत में आरोपियों ने उससे पूछा कि वह कितन रुपए दे सकता है। सुनील ने कहा कि वह दो लाख रुपए अपने किसी दोस्त से मांगकर दे सकता है। इस पर भी आरोपी राजी हो गए। सुनील ने अपने साथ आए दोस्त मनोज को फोन कर दो लाख रुपए देने के लिए कहा।

  • दोस्त को हुआ शक तो बुला ली पुलिस-

मनोज फ्लैट के बाहर कार में बैठा हुआ था। सुनील के दो लाख रुपए मांगने पर मनोज को कुछ शक हुआ और उसने सीधे पुलिस को फोन कर दिया। थाना सूरजकुंड पुलिस ने भी तत्काल कार्रवाई करते हुए वहां रेड मार दी। पुलिस को आया देखकर तीनों आरोपी कार में बैठकर वहां से फरार हो गए। पुलिस ने व्यापारी सुनील को सही हालत में छुड़ा लिया। बाद में पुलिस ने नाकेबंदी करवाकर रोशनी सहित तीनों आरोपियों को भी दबोच लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here