मौसम विभाग ने कहा, दिल्ली-NCR व हरियाणा में बदला मानसून का मिजाज, देंखे पूरी रिपोर्ट

0
- Advertisement -

New Delhi News (citymail news ) दिल्ली-एनसीआर , हरियाणा, चंडीगंढ सहित आसपास के इलाकों में मौसम का मिजाज एक बार फिर से बदल गया है। रविवार सुबह से जारी बारिश से जहां करोड़ों लोगों को उमस भरी गर्मी से राहत मिली थी, वहीं अब पिछले दो दिन से बारिश का रूख बदला हुआ दिखाई दे रहा है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने एक बार फिर से मानसून की बारिश को लेकर नई जानकारी जारी की है। विभाग ने कहा है कि मानसून का रूख फिलहाल बदल गया है। दिल्ली, एनसीआर व हरियाणा में हो रही बारिश ने कुछ दिनों के लिए अपना रूख बदल लिया है। विभाग ने साफ कहा है कि तीन दिन तक मानसून ने एक तरह से विराम ले लिया है। 3 दिनों तक दिल्ली-एनसीआर व हरियाणा में बारिश बहुत कम होने की संभावना है। विभाग के अनुसार अब इन दोनों राज्यों व आसपास के इलाकों में मानसून 26 जुलाई से सक्रिय होने की संभावना है। यानि कि 26 जुलाई से दिल्ली-एनसीआर व हरियाणा में झमाझम बारिश से यह शहर सराबोर होंगे।

  • स्काईमेट वेदर ने दी यह जानकारी-

स्काईमेट वेदर के मुख्य मौसम विज्ञानी महेश पलावत ने कहा कि दिल्ली,एनसीआर व हरियाणा में मानसून का ट्रफ अब हिमालय के तराई वालों क्षेत्रों की ओर बढ़ गया है। बीते वीरवार से हवा की दिशा भी पश्चिमी हो गई है। इससे अगले तीन दिन मौसम शुष्क रहने की संभावना है। हालांकि इस दौरान बारिश के बहुत कम होने की संभावना जताई जा रही है।

  • 26 जुलाई से  मानसून की वापिसी-

मौसम विज्ञानी महेश पलावत ने बताया कि रविवार तक दिल्ली, एनसीआर व हरियाणा में उमस और तापमान फिर से बढ़ सकते हैं। यानि कि सीधे तौर पर कहें तो मानसून का ट्रफ हिमालयी क्षेत्र की ओर जाने की वजह से इन इलाकों में जहां बारिश बहुत कम होने की संभावना है, वहीं उमस व तापमान में भी बढ़ोतरी हो सकती है। इसके बावजूद  गर्मी से अधिक परेशानी नहीं झेलनी पड़ेगी। पंरतु 26 जुलाई से इन इलाकों में मानसून की वापिसी हो सकती है और इसके बाद बारिश का आगमन आरंभ हो जाएगा।

  • दिल्ली-एनसीआर का तापमान-

लगातार हो रही बारिश के बाद दिल्ली-एनसीआर व हरियाणा के साथ लगते जिलों के तापमान में अधिकतम तापमान सामान्य से 7 डिग्री गिरकर 27.5 पर पहुंच गया है। वहीं न्यूनतम तापमान सामान्य से चार डिग्री कम 24.0 डिग्री सेल्यि रहा। 2011 के बाद अभी तक 22 जुलाई तक का यह सबसे कम तापमान है। मौसम विभाग के अनुसार 22 जुलाई पिछले 10 सालों में सबसे ठंडा दिन रहा है। मौसम विभाग के अनुसार बेशक 3 दिन तक दिल्ली-एनसीआर व हरियाणा में बारिश ना होने की संभावना जताई जा रही है, लेकिन इसके बावजूद मौसम में अधिक गर्मी दर्ज नहीं की जा सकेगी। लोगों के लिए राहत का यह दौर लगातार जारी रहने का पूरा अनुमान है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here