MCF की पार्किंग में सरेआम शराब पीते हैं कर्मचारी व अधिकारी, स्टिंग आपरेशन में हुआ खुलासा

0

Faridabad News (citymail news ) अभी तक भ्रष्टाचार के तौर पर राज्यभर में अपनी पहचान बना चुके नगर निगम के अधिकारी व कर्मचारियों का एक और रूप सामने आया है। छुट्टी के बाद नगर निगम के कर्मचारी व अधिकारी सभागार के पार्किंग एरिया में शराब की बोतलें खोलकर बैठ जाते हैं। यानि कि शाम को अवकाश के बाद नगर निगम सभागार का पार्किंग एरिया शराब के अहाते में बदल जाता है। अधिकारी गाडिय़ों में बैठकर जाम छलकाते हैं तो कर्मचारी कहीं भी खड़े होकर बोतलों टकराने लगते हैं। एक स्टिंग आपरेशन में कर्मचारी व अधिकारियों की करतूतें कैद हो गई हैं। बता दें कि इससे पहले भी नगर निगम के एनआईटी व बल्लभगढ़ में कर्मचारी दफ्तर में ही बैठकर शराब पीते हुए पकड़े जा चुके हैं। एक न्यूज चैनल की छापेमारी के दौरान इसका खुलासा हुआ था। तब कुछ कर्मचारियों पर गाज गिरी तो बाद में उन्हें बहाल कर दिया गया।

  • ऐसे हुआ भंडाफोड-

शुक्रवार को एक बार फिर से निगम के कर्मचारी व अधिकारियों को सरेआम बैठकर शराब पीते हुए रिकार्ड कर लिया गया। दरअसल नगर निगम मुख्यालय के पीछे ही नगर निगम सभागार है, जिसका एक रास्ता निगम कार्यालय के पीछे से होकर सभागार में खुलता है। अधिकारी व कर्मचारी वहां अपने वाहन खड़े कर पीछे के रास्ते से निगम मुख्यालय आते हैं। शाम को जब ये कर्मचारी व अधिकारी डयूटी से वापिस जाते हैं तो पीछे पार्किंग में ही शराब की बोतल व बीयर के साथ जोरदार ठहाकों के बीच महफिल शुरू हो जाती हैं। मुख्यतौर पर एकाऊंट विभाग के अधिकारी व कर्मचारियों को ही इस एरिया में शराब के जाम छलकाते हुए देखा गया है।

  • क्या कहते हैं कमिश्नर यश गर्ग-

नगर निगम आयुक्त यश गर्ग का कहना है कि यह बिल्कुल गलत है। किसी भी कर्मचारी व अधिकारी को मर्यादा का उल्लघंन नहीं करना चाहिए। निगम सभागार सरकारी स्थान है, वहां शराब पीने की अनुमति किसी को नहीं दी जा सकती। इस मामले की वह उच्च स्तरीय जांच करवाएंगे तथा दोषी पाए जाने पर उनके खिलाफ कार्रवाई करवाएंगे। आयुक्त ने कहा कि यह मर्यादा के बिल्कुल खिलाफ है। इसलिए वह अपने स्तर पर इसकी जांच करवाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here