हरियाणा की तहसीलों में घोटाले के बाद अब लोगों को घर बैठे मिलेंगी रजिस्ट्री, नहीं खाने होंगे धक्के

0

Chandigarh News (citymail news ) उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा है कि राज्य के राजस्व विभाग को आधुनिक बनाया जा रहा है और इसके तहत व्यापक बदलावों के लिए विभिन्न श्रेणियों में कुछ दिनों के लिए जमीन लेनदेन की रजिस्ट्री के काम को रोका गया है। यहां एक प्रेस वार्ता में उपमुख्यमंत्री ने बताया कि इस प्रक्रिया में 3 व्यापक सुधार होने जा रहे हैं जिनके बाद जमीन का लेनदेन करने वाले लोगों को लोगों को बहुत आसानी हो जाएगी।

  • सभी स्टाम्प अब ई-स्टाम्प के जरिये दिए जाएंगे

उपमुख्यमंत्री ने बताया कि अब सौ रूपये से ऊपर के सभी स्टाम्प अब ई-स्टाम्प के जरिये दिए जाएंगे जो ऑनलाइन ही प्राप्त किए जा सकेंगे। इसके साथ ही सभी तरह की लेनदेन की सैम्पल डीड्स यानी नमूना कॉपी अब विभाग की वेबसाइट पर उपलब्ध होंगे। इस फॉर्म को डाउनलोड कर आम व्यक्ति इसमें अपनी जानकारी भरकर जमा करवा सकेंगे जिससे उन्हें किसी एजेंट पर निर्भर होने की जरूरत नहीं पड़ेगी। एक अनूठे प्रयोग के तहत राज्य में अब रजिस्ट्री होने के 24 घंटे के भीतर रजिस्ट्री की इलेक्ट्रोनिक कॉपी उपभोक्ता की ईमेल पर भेजी जाएगी और साथ ही रजिस्टर्ड पोस्ट के माध्यम से उसकी हार्डकॉपी भी भेजी जाएगी।

  • कई लोगों की फिर होंगी रजिस्ट्री-

प्रदेश में रोके गए रजिस्ट्री के काम के बारे में बारे में उपमुख्यमंत्री ने कहा जिन लोगों की डीड पहले ही रजिस्टर हो चुकी हैउन्हें अगले एक सप्ताह में दोबारा अप्वाइंटमेंट देकर उनकी रजिस्ट्री की जाएगी। जो रजिस्ट्री हाल ही में हुई हैंउन्हें रजिस्ट्रार यानी जिला उपायुक्त के माध्यम से वेरिफाई करवाकर 15 दिनों में पूरा किया जाएगा।

  • नई प्रणाली बनने तक बंद रहेंगी रजिस्ट्री-

बता दें कि सरकार ने लॉकडाऊन के दौरान की गई रजिस्टरियों में बड़े पैमाने पर गड़बड़ी का संदेह जताया है। इसके चलते फिलहाल राज्य में सभी प्रकार की रजिस्ट्री पर रोक लगा दी गई है। इसकी उच्च स्तरीय जांच की बात कही जा रही है। इस बीच डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला का कहना है कि इस पूरी प्रणाली को आधुनिक रूप दिया जा रहा है। जब तक यह प्रणाली तैयार नहीं हो जाती, तब तक रजिस्ट्री बंद रहेंगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here