अयोध्या में राम मंदिर शिलान्यास पर मंडराया खतरा, शंकराचार्य ने महुर्त को बताया अशुभ

0
- Advertisement -

New Delhi News (citymail news) अयोध्या में राममंदिर निर्माण को लेकर जहां पूरी दुनिया उत्साहित दिखाई दे रही है, वहीं शंकराचार्य महंत स्वरूपानंद गिरी ने अयोध्या मंदिर की आधारशिला को लेकर सरकारी तैयारियों के रंग में भंग डाल दिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वयं 5 अगस्त को अयोध्या पहुंचकर मंदिर की आधारशिला रखेंगे। 5 अगस्त का दिन आधारशिला के लिए शुभ बताया गया है। लेकिन शंकराचार्य स्वरूपानंद गिरी ने 5 अगस्त की तिथि को अशुभ कहकर सारी तैयारियों पर विवाद खड़ा कर दिया है।

  • शंकराचार्य के बयान ने पैदा की हलचल-

वीरवार को शंकराचार्य ने अयोध्या मंदिर निर्माण को लेकर निकाले गए महुर्त को अशुभ बताकर पूरे देश में एक नए विवाद को जन्म दे दिया है। शंकराचार्य के इस कथन पर भाजपा में तीखी प्रतिक्रिया हुई है। भाजपा की वरिष्ठ नेता साध्वी उमा भारती ने नाराजगी जताई है। उन्होंने कहा कि शंकराचार्य को इस तरह का सार्वजनिक बयान नहीं देना चाहिए था। यदि उन्हें लगता है कि मंदिर की आधारशिला रखने के लिए 5 अगस्त का दिन शुभ नहीं है तो उन्हें अपनी बात चुपचाप सरकार या मंदिर समिति के सामने रखनी चाहिए थे। पूरा देश इस मंदिर निर्माण को लेकर सालों से इंतजार कर रहा है। पूरे देश की भावना मंदिर निर्माण से जुड़ी हुई है। इसलिए शंकराचार्य को इस तरह का बयान सार्वजनिक रूप से नहीं देना चाहिए था।

  • क्या बदल सकती है तिथि-

माना जा रहा है कि शंकराचार्य के इस बयान के बाद केंद्र व राज्य सरकार के स्तर पर कोई निर्णय लिया जा सकता है। वहीं दूसरी ओर राममंदिर निर्माण की बाट जोह रहे लोगों को शंकराचार्य के इस बयान से झटका लग सकता है। माना जा रहा है कि इस बयान के बाद कहीं मंदिर शिलान्यास के लिए कोई नहीं तिथि जारी करने पर सरकार द्वारा विचार किया जा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here