दिल्ली से निकाली गई प्रियंका गांधी गुरूग्राम में बनेंगी सीएम मनोहर लाल की मेहमान

0

Gurugram News (citymail news ) कांग्रेस की महासचिव और यूपी की प्रभारी प्रियंका वाड्रा का सरकारी बंगला छीनने के बाद उनका अब नया ठिकान गुरूग्राम होगा। प्रियंका गांधी वाड्रा अपने पति राबर्ड वाड्रा व बच्चों के साथ गुरूग्राम के सैक्टर 42 स्थित पॉश एरिया के डीएलएफ अरालियाज में रहेंगी। बता दें कि प्रियंका गांधी वाड्रा के भाजपा सरकार के कामकाज पर सख्त टिप्पणी व हमला करने के बाद से उनकी एसपीजी सुरक्षा एवं सरकारी बंगले पर गाज गिरना तय माना जा रहा था। प्रियंका वाड्रा ने अपनी मुखर कार्यप्रणाली से केंद्र व यूपी सरकार के लिए मुश्किलें खड़ी करने में कोई कसर नहीं छोड़ी है।

  • सरकारी बंगला लेकर प्रिंयका को दिया है झटका-

माना जा रहा है कि प्रियंका की तेजतर्रार राजनीति को देखते हुए ही सरकार ने उनसे एसपीजी सुरक्षा एवं सरकारी बंगला लेकर उन्हें जोरदार झटका दिया है। प्रियंका को एसपीजी सुरक्षा के चलते 1997 से नई दिल्ली में लोधी एस्टेट पर कोठी नंबर 35 एलॉट थी। कुछ समय पहले ही उनकी सुरक्षा की समीक्षा करने के बाद सरकार ने उनकी एसपीजी सुरक्षा वापिस ले ली थी। इस वजह से उनका यह बंगला भी खाली करना अनिवार्य हो गया था। फिलहाल प्रियंका को सरकार ने जेड प्लस सुरक्षा दी हुई है।

  • 31 जुलाई तक खाली करना होगा बंगला-

केंद्रीय आवास एवं शहरी मंत्रालय ने एसपीजी सुरक्षा हटते ही प्रियंका वाड्रा को नोटिस जारी कर सरकारी बंगला खाली करने के आदेश दे दिए थे। 31 जुलाई तक ही वह इस बंगले में अधिकारिक रूप से रह सकती हैं। लेकिन अब यह तय हुआ है कि प्रियंका फिलहाल अपने परिवार के साथ कुछ महीनों के लिए गुरूग्राम में रहेंगी। इस बीच उनका अपने आवास पर मरम्मत का काम चल रहा है। वहां रेनोवेशन का काम पूरा होते ही वह दिल्ली स्थित अपने नए निवास में शिफ्ट हो जाएंगी। मगर तब तक वह गुरूगाम हरियाणा की निवासी रहेंगी।

  • गुरूग्राम में बढ़ा दी गई है सुरक्षा-

डीएलएफ के जिस इलाके में वह रहने जा रही हैं, वहां की सुरक्षा को लेकर सीआरपीएफ ने अपनी गतिविधियां भी बढ़ा दी हैं। लगातार वहां की सुरक्षा व्यवस्था को दुरूस्त किया जा रहा है। इस इलाके की सुरक्षा को सीआरपीएफ ने अपने कंट्रोल में लेने के प्रयास तेज कर दिए हैं। माना जा रहा है कि 31 जुलाई से पहले किसी भी दिन प्रियंका अपने परिवार के साथ डीएलएफ में शिफ्ट कर सकती हैं। गुरूग्राम मेें आने के बाद वह सीधे तौर पर कुछ महीनों के लिए भाजपा की मनोहरलाल सरकार की मेहमान कही जा सकती हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here