देंखे कैसे बल्लभगढ़ के एक पार्षद ने मिटटी में मिलवा दिया श्मशान घाट

0

Ballabgarh News (citymail news ) बल्लभगढ़ में घटिया निर्माण सामग्री से बनाए जा रहे श्मशान घाट को अखिर तुड़वा दिया गया। बल्लभगढ़ के पार्षद दीपक चौधरी लगातार इस श्मशान घाट में घटिया निर्माण सामग्री व ईंटे लगाए जाने की शिकायत कर रहे थे। हालांकि उन्होंने निगम आयुक्त यश गर्ग को तमाम शिकायतें की, मगर उनकी शिकायत को हर बार अनसुना किया जाता रहा। पार्षद दीपक चौधरी ने इसकी शिकायत राज्य के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला तक पहुंचाई तो प्रशासन के कान हिलने शुरू हुए।

  • दुष्यंत चौटाला के कहने पर की गई कार्रवाई –

इसके बाद मंगवार को श्मशान घाट पर बुलडोजर चलने शुरू हुए। पार्षद ने कहा कि यह कार्रवाई सीधे तौर पर डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला के कहने पर की गई है। तिगांव रोड पर इस श्मशान घाट का निर्माण लाखों रुपए के बजट से किया जा रहा था। पंरतु निगम अधिकारियों की मिलीभगत से उसमें घटिया निर्माण सामग्री लगाई जा रही थी। एक तरह से कहा जाए तो सरकारी खजाने से लगाए जा रहे पैसों का बड़ा घोटाला था। पार्षद ने बताया कि वह कई बार निगम आयुक्त से इसकी शिकायत कर चुके थे। मगर कोई भी परिणाम सामने नहीं आ रहा था।

  • मीडिया में उठाई थी घोटाले की आवाज-

इसके बाद उन्होंने मीडिया में भी इस बात को जोर शोर से उठाया और यह शिकायत डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला तक पहुंचाई। वहां से इस श्मशान घाट को लेकर कार्रवाई करने के निर्देश जारी हुए, तब प्रशासन की आफत आ गई और मंगलवार को इस श्मशान घाट को गिराने के आदेश जारी किए गए। पार्षद ने खुद मौके पर खड़े होकर पूरा श्मशान घाट जमीन में मिलवा दिया। उन्होंने कहा कि नगर निगम में करोड़ों रुपए के बड़े बड़े घोटाले हो रहे हैं। सीवर सफाई के नाम पर करोड़ों रुपए डकारे जा रहे हैं। नीचे से लेकर ऊपर तक अधिकारियों की मिलीभगत है। श्मशान घाट में किए जा रहे इस घोटाले ने निगम अधिकारियों की कलई खोलकर रख दी है। निर्माणधीन कार्य तोडऩे से बड़ा और क्या घोटाला हो सकता है। उनकी मांग है कि इस श्मशान घाट की आड़ में घोटाला करने वाले अधिकारियों के खिलाफ ठोस कार्रवाई की जानी चाहिए। पार्षद ने नाराजगी जताई कि नगर निगम में शिकायत करने के बाद भी कोई सुनवाई नहीं होती। लेकिन डिप्टी सीएम को शिकायत देने के बाद कार्रवाई हुई है। उन्होंने कहा कि यह जनता की बड़ी जीत है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here