कैसे मात्र 4 घंटे में फरीदाबाद पुलिस ने अपहरणकर्ता के चंगुल से बच्चे को बचाया

0

Faridabad News (citymail news ) फरीदाबाद पुलिस के मानवीय पहलू के चलते तीन बच्चों को अपहरणकर्ता के चंगुल से बचा लिया। खबर मिलते ही पुलिस टीम बच्चों की खोजबीन में ऐसे जुटी कि मात्र चार घंटे के अंदर ही बच्चे को सकुशल बचा लिया गया । पुलिस की इस कार्रवाई की लोग खूब प्रशंसा कर रहे हैं। यह मामला है सैक्टर 8 की पुलिस चौकी के अंतर्गत आने वाले सीही गांव का।

  • ये है पूरा मामला-

दरअसल सिही गांव में किराए पर रहने वाले एक परिवार के तीन बच्चों को एक युवक टॉफी दिलवाने के बहाने अपने साथ ले गया। इनमें दो लड़कियां व एक लडक़ा था। तीनों बच्चे अपहरणकर्ता के पीछे-पीछे चलने लगे। बच्चों की उम्र 5 और 8 से 10 साल के बीच थी। लेकिन इस दौरान दोनों बच्चियां अचानक से युवक के पीछे जाने की बजाए मुडकर वापिस अपने घर चली गई। दोनों बच्चियों ने अपनी मां को बताया कि उनके भाई को चोर ले गया है।

  • ऐसे हरकत में आई पुलिस-

यह सुनते ही बच्चे के चाचा धीरेंद्र ने पुलिस कंट्रोल रूम को पूरी जानकारी दी। कंट्रोल रूम से यह केस तुरंत सेक्टर 8 पुलिस चौकी के पास भेजा गया। चौकी इंचार्ज हुक्मसिंह ने केस ट्रांसर्फर होते ही एक टीम गठित की और बच्चे की खोजबीन में जुट गए। यह तीनों बच्चे बिरेश कुमार के हैं, जोकि मूलरूप से संभल यूपी के रहने वाले हैं और फिलहाल मोदी मोहल्ल्ला सिही सेक्टर 8 में रह रहे हैं।

  • ऐसे पहचानी लोकेशन-

इस घटना के तत्काल बाद चौकी इंचार्ज हुक्मसिंह ने सबसे पहले अपहरणकर्ता की लोकेशन टे्रस की। लोकेशन पता चलते ही उन्होंने पूरे इलाके की सीसीटीवी फुटेज खंगाली तो उसमें एक युवक तीन बच्चों को अपनी पीछे पीछे ले जाता हुआ दिखाई दिया। पुलिस टीम ने उन सभी रास्तों पर नाकेबंदी कर दी। पुलिस की सक्रियता तेज होते देखकर अपहरणकर्ता युवक को शक हो गया। बताया गया है कि उसने अपनी जान बचाने में भलाई समझी और 5 वर्षीय बच्चे अयूस को गुरूग्राम नहर सैक्टर 4/8 के पास छोडक़र भाग गया। चौकी इंचार्ज हुक्मसिंह ने अपनी टीम के साथ नहर के पास से बच्चे को सकुशल बरामद कर लिया। इस तरह से पुलिस की सक्रियता से एक बच्चे का अपहरण होने से बच गया। इलाके के लोगों ने पुलिस के इस मानवीय पहलू की जमकर प्रशंसा की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here