देंखे किस तरह से फरीदाबाद में नकली पुलिस वाले बनकर दिनदहाड़े हो रही लूटपाट

0

Faridabad News (citymail news ) फरीदाबाद में लोगों को लूटने के लिए अपराधी पुलिस वाले बनकर वारदातों को अंजाम दे रहे हैं। हाल ही में ऐसी कई घटनाएं सामने आई हैं। खासतौर पर अकेेली बाजार या फिर पार्क में जाने वाली महिलाओं को यह गिरोह अपना शिकार बना रहा है। शुक्रवार को फरीदाबाद में एक साथ लूट की लगातार तीन वारदात घटित हुई और ये सभी वारदात 10 से 15 मिनट के भीतर ही घटित हो गई।

  • डिप्टी मेयर की रिश्तेदार को लूटा-

नगर निगम के डिप्टी मेयर मनमोहन गर्ग के रिश्तेदार अनिल मित्तल के सैक्टर 15 के पास स्थित घर के पास ही उनके साथ लूट की बड़ी वारदात घटित हो गई। अनिल मित्तल की पत्नी अर्चना मित्तल घर के सामने बने पार्क में टहलने के लिए गई थीं। उनसे पहले ही पार्क में चार लोग मौजूद थे। उन्होंने श्रीमति मित्तल से कहा कि वह पुलिस वाले हैं और अभी अभी एक महिला के साथ चाकू मारकर लूट की वारदात हो गई है। इसलिए आप भी अपने गहने उतारकर छुपा लो। महिला ने अपने सोने के जेवर उतारकर नकली पुलिस वालों को दे दिए। पुलिस वालों ने एक कागज में लपेटकर महिला को उनके गहने दे दिए और घर जाने के लिए कहा। घर जाकर अर्चना मित्तल ने जब कागज खोलकर गहने देखे तो सभी गहने नकली निकले। लूटे गए गहनों की कीमत सात लाख रुपए बताई गई है।

  • दूसरी वारदात-

दूसरी वारदात सैक्टर 16 निवासी राज के साथ घटित हुई। वह अपनी सहेली सुमन के साथ टहलने के लिए निकली थी। घर से कुछ देर जाने के बाद उन्हें मोटरसाईकिल पर दो लोग मिले। उन्होंने राज व सुमन को रोका तथा कहा कि वह पुलिस वाले हैं। दोनों महिलाओं को भी उन्होंने लूट का डर दिखाते हुए सारे गहने उतारने के लिए कहा। राज ने अपने गहने उतारकर उन्हें दे दिए, जिसके बाद नकली पुलिस वालों ने उन्हें भी कागज में लपेटकर सारे गहने छुपाकर रखने के लिए दिए। घर जाकर जब उन्होंने अपने गहने निकाले तो वह नकली मिले। इस तरह से लुटेरों ने उन्हें भी ठग लिया और फरार हो गए।

  • तीसरी वारदात-

तीसरी वारदात सैक्टर 28 निवासी कनिका शर्मा के साथ घटित हुई। कनिका शर्मा भी शाम को घर के पास टहलने के लिए गई थीं। तभी मोटरसाईकिल पर सवार चार लोगों ने उन्हें रोक लिया। उन्होंने खुद को भी पुलिसकर्मी बताकर सोने के कंगन बैग में रखने को कहा। कनिका ने भी अपने कंगन उतारकर उन्हें दे दिए। ठीक उसी तर्ज पर युवकों ने कंगन कागज में लपेटकर कनिका को दे दिए। घर जाकर कनिका ने कंगन देखे तो वह नकली मिले। इस तरह से एक ही दिन में लूट की तीन वारदातों ने पुलिस की कार्यप्रणाली को कठघरे में खड़ा कर दिया है। इससे साबित हो गया है कि फरीदाबाद में पुलिस व कानून व्यवस्था पूरी तरह से पिट चुकी है। पुलिस की आड़ में ही लुटेरे वारदातों को अंजाम देकर असली पुलिस को चुनौती देते दिखाई दे रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here