महाशिव रात्रि पर गुरूग्राम व फरीदाबाद में नहीं खुलेंगे मंदिर, इन शहरों को मिली अनुमति

0

Chandigrh News (citymail news ) गुरूग्राम व फरीदाबाद को छोडक़र राज्य के बाकि शहरों में मंदिरों को खोलने की अनुमति प्रदान कर दी गई है। इन दो जिलों में मंदिर पूरी तरह से बंद रहेंगे। बाकि जिलों में सरकार द्वारा टोकन आधारित प्रणाली के आधार पर मंदिर में प्रवेश की अनुमति देगी। यानि कि मंदिर संस्थान को महाशिव रात्रि के अवसर पर भक्तों को पहले टोकन बांटने होंगे, इसके आधार पर ही भक्तगण मंदिर में भगवान शिव का जलाभिषेक कर पाएंगे।

  • मंदिर खोलने का समय तय-

सरकार ने जलाभिषेक एवं आरती के लिए मंदिरों के खुलने का समय भी तय कर दिया गया है। ये मंदिर सुबह पांच से दस बजे तक ही खुल सकेंगे। इसके साथ साथ मंदिर में एक बार में मात्र दो से पांच लोग ही अंदर जा पाएंगे। सरकार ने यह भी निर्णय लिया है कि भक्तों को गंगाजल मुहैया करवाया जाएगा। सरकार ने यह जिम्मेदारी अपने ऊपर ली है। हरिद्वार से लाया गया जल भक्तों को जलाभिषेक के लिए उपलब्ध करवाया जाएगा।

  • इन लोगों को होगी निराशा-

इसके साथ साथ फरीदाबाद व गुरूग्राम के लाखों श्रद्धालुओं को निराशा का सामना करना पड़ेगा। सरकार ने साईबर सिटी व औद्योगिक नगरी के लोगों के महाशिवरात्रि के अवसर पर भगवान भोले के दर्शन करने पर पाबंदी जारी रखी है। सरकार का मानना है कि इन दोनों जिलों में कोरोना के अधिक केस होने के चलते यह निर्णय लिया गया है। सरकार के इस निर्णय से लोगों में खासी निराश है। उनकी मांग है कि सरकार को अपना निर्णय बदलना चाहिए और श्रद्धालुओं को अन्य जिलों की भांति गुरूग्राम व फरीदाबाद में भी भगवान शिव का जलाभिषेक करने की अनुमति प्रदान करनी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here