हाईटेक होंगी हरियाणा की तहसील, फरीदाबाद, गुरूग्राम, सोनीपत व अंबाला में भी करवा सकते हैं रजिस्टरी

0
- Advertisement -

Chandigarh News (citymail news ) हरियाणा के तहसील विभाग अब जल्द ही हाईटैक होने वाले हैं। इसके लिए राज्य सरकार अपनी ओर से सारी तैयारी कर चुकी है। दरअसल सरकार सभी तहसीलों को ऑन लाईन प्रक्रिया से जोड़ते हुए कर्मचारी व अधिकारियों पर निभर्रता कम करने की दिशा में बढ़ रही है। सरकार का कहना है कि अब एक ऐसी प्रक्रिया को अमल में लाया जाएगा, जिसके बाद तहसील में रजिस्ट्री करवाने के लिए धक्के खाने का सिस्टम पूरी तरह से समाप्त हो जाएगा। इस आनलाईन सुविधा के बाद यदि आप अपने मनपसंद शहर में रजिस्टरी करवाना चाहते हैं तो आपके पास उसका भी आप्शन होगा। उदाहरण के तौर पर आपने अपनी रजिस्ट्री के कागज फरीदाबाद में तहसील में जमा करवा दिए और आप रजिस्ट्री सोनीपत, गुरूग्राम, अंबाला, रोहतक या फिर पानीपत सहित किसी भी अन्य तहसील में करवाने के इच्छुक हैं तो वह भी हो जाएगा। यानि की आप अपनी पसंद के शहर को रजिस्टरी करवाने के लिए चुन सकते हैं। सरकार इस योजना के जरिए दलाली राज को समाप्त करना चाहती हैं।

  • हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा-

हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा है कि प्रदेश में डिजिटलाइजेशन को बढ़ावा दिया जा रहा है और जल्द ही राज्य के भू-रिकॉर्ड को ऑनलाइन किया जाएगा जो कि देश में एक बैंचमार्क सिद्ध होगा। उन्होंने कहा कि तहसीलों में ई-रजिस्ट्री के अवधारणा लागू करने के बाद अब राजस्व विभाग ने तहसीलों में मानव हस्तक्षेप कम से कम हो, इस कड़ी में केन्द्रीकृत रजिस्ट्री लागू करने के कार्य को तेजी के साथ आगे बढ़ाया है। उन्होंने कहा कि इससे एक तहसील में दस्तावेज जमा करने के बाद कोई भी व्यक्ति किसी भी तहसील से अपनी रजिस्ट्री करवा सकेगा।

  • हरियाणा देश का पहला राज्य होगा-

डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने कहा कि प्रदेश की 13 उप-तहसीलों में भू-रिकॉर्ड के डिजिटलाइजेशन करने का कार्य अभी बचा हुआ है, जिसे तेजी से पूरा करने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि यह कार्य पूरा होने के साथ ही पूरे हरियाणा के भू-रिकॉर्ड का कार्य डिजिटलाइजेशन हो जाएगा और हरियाणा ऐसा करने वाला देश का पहला राज्य होगा।

  • लाल डोरे के अन्दर  रजिस्ट्री आरम्भ होगी-

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि इसी प्रकार गांवों को लाल डोरा मुक्त करने का कार्य जारी है। उन्होंने कहा कि करनाल जिले के सिरसी गांव को हरियाणा का पहला लाल डोरा मुक्त गांव बनाने के बाद पहले चरण में 75 गांवों को लाल डोरा मुक्त करने का प्रस्ताव तैयार किया गया था, जिसे अब बढ़ाकर 100 गांव कर दिया गया है। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि इससे भी लाल डोरे के अन्दर ही संपत्तियों की रजिस्ट्री आरम्भ होगी। उन्होंने कहा कि सर्वे ऑफ इण्डिया के माध्यम से पूरे हरियाणा के गांवों का डिजिटलाइजेशन कार्य किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here