हरियाणा में खतरनाक हुआ कोरोना: डिप्टी सीएम का पीए व मंत्री विज के परिवार वाले पॉजीटिव हुए

0

Chandigarh News (citymail news ) हरियाणा में कोरोना से बचाव को लेकर सरकार चाहे कितने दावे क्यों ना करे, मगर हकीकत तो यह है कि इस पर पूरी तरह से काबू पाना मुश्किल साबित हो रहा है। यही वजह है कि राज्य के प्रत्येक जिले में कोरोना के केस तेजी से बढ़ रहे हैं। इसी के चलते हरियाणा के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला के निजी सचिव भी कोरोना की चपेट में आ गए। वो ही नहीं बल्कि हरियाणा के गृह, स्वास्थ्य एवं लोकल बॉडी मंत्री अनिल विज के परिजन भी कोरोना पॉजीटिव हो गए हैं। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि हरियाणा में कोरोना कितनी खतरनाक स्टेज पर है। इनके अलावा राज्य के कई बड़े अधिकारी भी कोरोना की वजह से सक्रंमित हैं। दिल्ली एनसीआर बोर्ड के प्लानिंग विभाग में नियुक्त एक बड़े अधिकारी भी कोरोना पॉजीटिव पाए गए हैं।

  • दुष्यंत चौटाला हुए क्वारंटाईन-

पूरी जानकारी के अनुसार डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला के सचिव राहुल गौड़ के कोरोना पॉजीटिव मिलने के बाद राज्य की अफसरशाही में हडकंप मचा हुआ है। सचिव के कोरोना से सक्रंमित होने के बाद डिप्टी सीएम चौटाला ने खुद को क्वारंटाईन कर लिया है। पूरे निवास को सेनीटाईज करवा दिया गया है। बताया गया है कि सचिव राहुल गौड़ पिछले दिनों दिल्ली व गुरूग्राम गए थे, उसके बाद से ही उनकी तबियत खराब होने लगी। कोरोना टेस्ट करवाया तो वह पॉजीटिव पाए गए। राहुल के बारे में बताया गया है कि वह अधिकतर समय डिप्टी सीएम की चंडीगढ़ सैक्टर 2 स्थित कोठी नंबर 48 में रहते थे और वहीं से सारा कामकाज संभालते थे।

  • मंत्री के 3 परिजन कोरोना पॉजीटिव-

इसी प्रकार से कैबिनेट मंत्री अनिज विज के अंबाला में रहने वाले तीन परिजन भी कोरोना पॉजीटिव पाए गए हैं। मंत्री के सचिव व उनके परिजन ही नहीं बल्कि चंडीगढ़ सचिवालय के कर्मचारी व अधिकारी भी काफी संख्या में पॉजीटिव पाए जा रहे हैं। चिकित्सा, शिक्षा एवं अनुसंधान विभाग में एक महिला कर्मचारी के कोरोना पॉजीटिव मिलने के बाद विभाग के करीब 60 कर्मचारियों के कोरोना टेस्ट करवाए गए हैं। बता दें कि राज्य भर में बीते वीरवार को करीब 700 नए केस पॉजीटिव पाए गए हैं। इसके साथ साथ कोरोना से तीन लोगों की मौत भी हुई है। 84 मरीजों की हालत चिंताजनक बताई गई है। जिनमें से 64 को आक्सीजन पर रखा गया है तो 20 मरीज वेंटीलेंंटर पर हैं। इससे साफ हो गया है कि हरियाणाा में धीरे धीरे यह बीमारी पैर पसार रही है।

  • इन जिलों में स्थिति चिंताजनक-

    गुरूग्राम, फरीदाबाद, सोनीपत, अंबाला, भिवानी ,रेवाड़ी, रोहतक, पानीपत, यमुनागर, पंचकूला सहित अधिकांश जिलों में कोरोना मरीजों की संख्या हर रोज बढ़ रही है। लेकिन जमीन पर स्वास्थ्य विभाग की कोई भी ठोस योजना दिखाई नहीं दे रही। अधिकारी प्रतिदिन बड़े बड़े दावे कर रहे हैं, लेकिन उसके परिणाम सामने नहींआ रहे। यही वजह है कि कोरोना ने राज्य के मंत्री व अधिकारी नहीं अब कर्मचारियों को भी पूरी तरह से अपनी जकड़ में ले लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here