राजस्थान में पायलट सहित 18 विधायकों को बर्खास्त करने की तैयारी

0

Jaipur News (citymail news) डिप्टी सीएम व अध्यक्ष पद से हटाए जाने के बाद सचिन पायलट ने साफ कर दिया है कि ना तो वह भाजपा में जा रहे हैं और ना ही अपनी पार्टी बनाने के इच्छुक हैं। वह कांग्रेस में तब तक रहेंगे, जब तक कांग्रेस उन्हें खुद ही ना निकाल दे। इस बीच पता चला है कि राजस्थान प्रदेश कांग्रेस द्वारा पायलट सहित उनके 18 समर्थकों को कभी भी विधायक पद से बर्खास्त कर सकती है। कहा जा रहा है कि विधायकी जाने के डर से अब कई विधायक दोबार से कांग्रेस में आने का रास्ता तलाश रहे हैं। उनमें से कई लोग सीएम अशोक गहलौत के संपर्क में आ रहे हैं।

वहीं सचिन पायलट ने कहा कि वह कांग्रेस में रहेंगे, जब तक कांग्रेस उन्हें खुद ही बाहर का रास्ता नहीं दिखा देती। हालांकि सचिन पायलट प्रकरण से कांग्रेस के ही कई बड़े नेता दुखी हैं। उन्हें लगने लगा है कि इससे देश भर में कांग्रेस की छवि धूमिल हो रही है। उनके अनुसार सचिन पायलट के साथ जो भी हो रहा है, वह गलत है। बता दें कि सीएम अशोक गहलौत ने पायलट की बगावत के बावजूद 109 विधायकों का समर्थन होने का दावा करते हुए अपनी सरकार को बचाने की ताकत दिखा दी है। हालांकि सचिन ने शुरूआत मेंं 30 विधायक होने का दावा किया था, जिन्हें लेकर वह हरियाणा के गुरूगाम पहुंच गए थे। इस बीच उनकी भाजपा के साथ भी बैठक हुई थी। मगर इस दौरान पायलट समर्थक कई विधायक व मंत्री वापिस गहलौत खेमे में पहुंच गए थे। इससे गहलौत के हौंसले बुलंद हो गए और उन्होंने पायलट को झटका देते हुए ना केवल सरकार के लायक विधायक इकठ्ठे कर लिए, बल्कि उन्हें डिप्टी सीएम व प्रदेश अध्यक्ष के पद से भी चलता कर दिया। हालांकि इस बीच प्रियंका गांधी ने सचिन को मनाने का प्रयास किया था, लेकिन उनके बीच की वार्ता सफल नहीं हो पाई। बुधवार को सूचना यह आई कि सचिन पायलट ने भाजपा ने जाने की अटकलों को समाप्त कर कांग्रेस में ही रहने की घोषणा कर दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here