मौसम अपडेट: दिल्ली व हरियाणा में मानसून की बारिश को लेकर जारी हुआ नया समय

0

New Delhi News (citymail news) दिल्ली-एनसीआर एवं हरियाणा के करोड़ों लोगों के लिए मानसून की बारिश का इंतजार बढ़ता ही जा रहा है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के ताजा पूर्वानुमान के मुताबिक सप्ताह भर यानि कि सोमवार से लेकर शनिवार तक अभी दिल्ली-एनसीआर व हरियाणा के शहरों का मौसम उमस भरा बना रहेगा। मौसम विभाग के अनुसार सोमवार को भी दिन भर उमस के साथ गर्मी व धूप भी रहेगी। मगर मौसम विभाग का कहना है कि सप्ताहांत के बीच 10 से 30 किलोमीटर की रफ्तार के साथ हवा चलेगी आौर कहीं कहीं हल्की बारिश भी हो सकती है। इस दौरान न्यूनतम तापमान 24 डिग्री से लेकर 36 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना जताई गई है। मौसम विभाग का कहना है कि ताजा अनुमान के मुताबिक दिल्ली व हरियाणा के शहरों में मानसून 15 जुलाई तक तेज हवाओं के साथ जारी रह सकता है।

स्काईवेट वेदर ने बताया अपना अनुमान-

स्काईमेट वेदर के मुख्य मौसम विज्ञानी महेश पलावत ने बताया कि इस पूरे सप्ताह आंशिक रूप से बादल छाए रहेंगे। कभी हल्की तो कभी तेज बारिश भी होने की संभावना है। इसके चलते लोगों को गर्मी से राहत मिल सकती है। मौसम विभाग के मुताबिक मंगलवार को हल्की बारिश रहने का अनुमान है। इस दौरान कम बारिश होने के चलते तापमान में थोडी से बढ़त बनी रह सकती है। वहीं कई इलाकों में आंधी व तेज हवाओं के साथ बारिश होने की पूरी संभावना है।

25 जून को दिल्ली- हरियाणा में पहुंचा था मानसून-

आपको बता दें कि मानसून दिल्ली व हरियाणा में 25 जून को ही पहुंच गया था। लेकिन झमाझम बारिश के बिना ही रूठ गया। इसके बाद से मानसून की उस बारिश का इंतजार है जिससे करोड़ों लोगों को लगातार बारिश से राहत मिल सके। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग का कहना है कि इस बार दिल्ली-एनसीआर व हरियाणा तथा आसपास के राज्यों में पिछले साल की तुलना में अधिक बारिश होने की संभावना है। लेकिन इसकी तिथियों में मानसून विभाग कुछ बदलाव की बातें कर रहा है। विभाग का कहना है कि पिछले कुछ सालों से दिल्ली-एनसीआर व हरियाणा में मानसून अगस्त व सितंबर में सक्रिय होता है। हो सकता है कि इस बार जुलाई के इस सप्ताह से ही मानसून की सक्रियता आरँभ हो सकती है।

हरियाणा मौसम विभाग क्या कहता है-

हरियाणा के मौसम विभाग का कहना है कि इस बार राज्य में 15 जुलाई से मानसून के और भी ज्यादा सक्रिय होने की उम्मीद है। विभाग के अनुसार कर्क रेखा हिमालय की तराई में बनी हुई है। इसका कारण यह है कि मानसून इस डेट के बाद भी ना केवल सक्रिय रहेगा, बल्कि अधिक बारिश लेकर भी आएगा। इससे प्रदेश के कई जिलों में भारी बारिश होने का अनुमान है। बता दें कि मानसून वक्त से पहले आने के बावजूद पूरी तरह से सक्रिय नहीं हो पाया है। अब मौसम विभाग ने इसकी नई डेट 15 जुलाई बताई है। मौसम विभाग से मिली जानकारी के आधार पर ही मानसून की खबर प्रकाशित की जाती है। इसमें समाचार एजेंसी का अपना कोई अनुमान नहीं होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here