फरीदाबाद में फैमिली आईडी व परिवार हेल्थ सर्वे में 215 कमेटियों को सौंपी जिम्मेदारी

0

Faridabad News (citymail news ) उपायुक्त यशपाल ने जिला में अधिकारी और कर्मचारियों को कोविड-19 संक्रमण के बचाव के मद्देनजर फैमिली आईडी तथा परिवार हेल्थ सर्वे में जो दायित्व सौंपा गया है। फैमिली आईडी तथा परिवार हेल्थ सर्वे के कार्य के लिए 215 कमेटियां बनाई गई है। इन पर 43 सैक्टर आफिसर लगाए गए हैं और 9 एरिया आफिसर नियुक्त किए गए हैं। इस काम के लिए जिला में विधानसभा क्षेत्र बार अलग अलग अधिकारियों और कर्मचारियों की टीमों बनाकर उन्हें यह दायित्व सौंपा गया है ।

नोडल अधिकारी सतबीर मान को सौंपी जिम्मेदारी –

उपायुक्त यशपाल ने स्वयं गत 9 और 10 दिसंबर को फरीदाबाद अर्बन, बङखल अर्बन, तिगावं अर्बन, बल्लभगढ़ अर्बन और बल्लभगढ़ ग्रामीण तथा फरीदाबाद, तिगावं ग्रामीण क्षेत्रों के लिए अधिकारियों और कर्मचारियों के अलग अलग बैच बनाकर सामुहिक रूप प्रशिक्षण दिया गया है, ताकि जिला में ऐसा कोई ना बचे जिसका फैमिली पहचान पत्र और हेल्थ कार्ड बनने से वंचित ना रहे। इस दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला की जिम्मेदारी अतिरिक्त उपायुक्त कम फैमिली आईडी तथा परिवार हेल्थ सर्वे के कार्य के लिए बनाए गए नोडल अधिकारी सतबीर मान को सौंपी गई थी। जिला स्तरीय परिवार पहचान पत्र और परिवार हेल्थ सर्वे का कार्य सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं व परियोजनाओं तथा नीतियों के सही क्रियान्वयन में प्रशासन के कारगर मददगार साबित होगा । कर्मचारियों और अधिकारियों को कोविड-19 के बचाव और सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार प्रशासन द्वारा आम जन को जागरूकता के लिए भी यह एक बेहद कदम है ।  अधिकारी और कर्मचारी निश्चित तौर पर बेहतर तरीके से कार्य को क्रियान्वित कर रहे हैं। परंतु कुछ कर्मचारियों और अधिकारियों के कार्य का क्रियान्वयन तकनीकी या निजी कारणों से ढीला है, वे इस कार्य को बेहतर तरीके से समय बध प्रशिक्षण उपरांत पूरा करना सुनिश्चित करेंगें ।

उपायुक्त यशपाल ने हेल्थ सर्वे  की समीक्षा की-

उपायुक्त यशपाल ने बैठक में एक -एक करके फैमिली आईडी तथा परिवार हेल्थ सर्वे के कार्य की समीक्षा भी की और सम्बंधित अधिकारियों तथा कर्मचारियों के साथ सुझाव भी साझा किए गए, ताकि इस काम को पूरा करने में प्रशासन की तरफ से कोई कमी ना रहे। इन दोनों कार्यों के लिए शहरी क्षेत्रों में आरडब्लूए के सदस्यों, नगर पार्षदो तथा ग्रामीण क्षेत्रों में पंचायती राज जनप्रतिनिधि और विभिन्न पार्टियों के बूथ लेवल के कार्यकर्ताओं,एएनएम,आशा वर्करों, एनएसएस,एनसीसी के विद्यार्थियों,कालेज के प्राध्यापको, समाज सेवी संस्थाओं के प्रतिनिधि, एनजीओ,इण्डस्ट्रीज एसोसिएशन, मार्केट एसोसिएशन,रिटायर्ड लोगों तथा अन्य प्रबुद्ध वर्ग लोगों को शामिल किया गया है ताकि वे प्रशासन और आम जन के बीच सही रूप से कङी का कार्य कर सकें ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here