राजस्थान में कांग्रेस सरकार गिराने की तैयारी, बागी विधायकों को हरियाणा में मिली शरण

0

New Delhi News (citymail news) राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलौत व डिप्टी सीएम सचिन पायलट के बीच चल रहे विवाद के बीच राज्य की सरकार को खतरा पैदा हो गया है। इन दोनों के बीच राजस्थान में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद से ही तनाव की स्थिति बनी हुई है। लेकिन अब खबर आ रही है कि सचिन पायलट समर्थक करीब 22 विधायक कभी भी सरकार गिरा सकते हैं। बताया गया है कि सचिन समर्थक सभी विधायकों को हरियाणा के तावडू में स्थित एक होटल में ठहराया गया है।

माना जा रहा है कि पर्दे के पीछे से भाजपा का दिमाग काम कर रहा है। आरोप है कि भाजपा व केंद्र सरकार मिलकर राजस्थान की गहलौत सरकार को चलता करने की पूरी योजना तैयार कर चुके हैं। यही कारण है कि राजस्थान के बागी विधायकों को हरियाणा में शरण दिए जाने की बात सामने आ रही है। हरियाणा में भाजपा सरकार द्वारा राजस्थान के बागी विधायकों को शरण देने का मामला भी कांग्रेस में उठापटक पैदा किए हुए है। खबर है कि राजस्थान के डिप्टी सीएम सचिन पायलट भी अपने सभी 22 विधायकों के साथ तावडू के होटल में पहुंचे थे। इनमें से कांग्रेस सहित कुछ निर्दलीय विधायक भी होटल में ठहरे हुए हैं।

बताया गया है कि सभी विधायकों को तावडू के आईटीसी होटल में ठहराया गया है, जहां हरियाणा पुलिस की गतिविधियां बढऩे की सूचना है। माना जा रहा है कि राजस्थान में सियासी गर्मी के बीच सचिन पायलट की भाजपा नेतृत्व से भी बातचीत चल रही र्है। यदि दोनों के बीच वार्ता सफल रही तो फिर सचिन को राजस्थान में नई सरकार की कमान मिल सकती है। उधर राजस्थान में गहलौत सरकार भी हरकत में आ गई है। विधायकों की खरीद फरोख्त को लेकर एक ओडिया रिकार्डिंग भी सरकार के हाथ लगी है। जिसमें निर्दलीय विधायकों को समर्थन की एवज में 25-25 करोड़ रुपए देने की बात की जा रही है। इस मामले में कांग्रेस सरकार ने राजस्थान में दो लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है,जोकि गहलौत सरकार को गिराने के लिए ना केवल करोडों रुपए कमाने की बात कर रहे हैं, बल्कि विधायकों को भी मोटी आफर दे रहे हैं। इस मामले में अशोक सिंह व भरत मलानी को गिरफ्तार भी किया गया है। अशोक गहलौत अपनी सरकार बचाने के लिए पूरी तरह से सक्रिय हो गए हैं। इसके लिए उन्होंने केबिनेट की बैठक बुलाकर विचार विमर्श किया है।
गहलौत का आरोप है कि गिरफ्तार किए गए दोनों लोग भाजपा से संबंधित हैं। वहीं भाजपा ने गिरफ्तार आरोपियों से अपने संबंधों को पूरी तरह से नकार दिया है। दूसरी ओर तावडू के जिस होटल में बागी विधायकों को रखा गया है, उन्हें हरियाणा पुलिस द्वारा सुरक्षा मुहैया करवा दी गई है। होटल के आसपास के सभी रास्ते पुलिस द्वारा बेरीकेट लगाकर बंद कर दिए हैं। हरियाणा सीआईडी के कई अधिकारियों भी होटल पहुंचकर सारी स्थिति का जायजा ले रहे हैं। माना जा रहा है कि भाजपा मध्यप्रदेश में ज्योतिरादित्य सिंधिया की तर्ज पर राजस्थान में भी कांग्रेस को बड़ा झटका देने की तैयारी कर चुकी है। चर्चा है कि यदि भाजपा की रणनीति सही दिशा में काम कर गई तो राजस्थान में सचिन पायलट के नेतृत्व में उनकी सरकार बन सकती है। फिलहाल पूरे देश की राजस्थान के सियासी माहौल पर नजर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here