रोहतक के गांधी कैंप के दुकानदारों के लिए राहत भरी खबर, मिलेंगी नई दुकानें

0

Rohtak News (citymail news ) रोहतक में गांधी कैंप के उन सैंकड़ों लोगों को प्रशासन ने बड़ी राहत दी है, रेलवे टे्रक निर्माण के चलते जिनकी तोड़ी जानी है। प्रशासन ने दुकानों को उजाडऩे के विकल्प के तौर पर सभी दुकानदारों को बड़ी राहत देने का निर्णय लिया है। गांधी कैंप से दुकानों को पावर हाऊस चौक पर नई दुकानें बनाकर दिए जाने की योजना को अंतिम रूप दे दिया है। बताया गया है कि गांधी कैंप के निर्माणधीन एलीवेटेड रेलवे टे्रक के कारण कई दुकानों को हटाया जाना है। इससे सैंकड़ों लोगों के सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया था। मगर प्रशासन ने गांधी कैंप से हटाए जाने वाली दुकानों के एवज में पावर हाऊस चौक पर 152 दुकानें बनाने का निर्णय लिया है। इन दुकानों का साईज 9 गुणा 12 होगा। इनमें से 95 दुकानें फस्र्ट फ्लोर व 57 दुकानें ग्राऊंड फ्लोर पर बनाई जानी हैं। इनमें बाथरूम पार्किंग की सुविधा भी उपलब्ध करवाई जाएगी। दुकानों का आवंटन होने के बाद सभी व्यापारी फिर से सुचारू रूप से अपना कारोबार संचालित कर पाएंगे।

रेलवे लाईन के चलते हटाई जानी हैं दुकानें-

गौरतलब है कि रोहतक से पानीपत होकर गोहाना जाने वाले रेलवे टे्रक जोकि शहर के बीचों बीच होकर गुजरता है। यह रेलवे लाईन गांधी कैंप को दो भागों में बांटती है। रोहतक रेलवे स्टेशन से सेक्टर 6 तक रेलवे द्वारा एलीवेटेट लाईन का निर्माण किया जा रहा है। यह पूरा काम अगस्त महीने के अंतिम सप्ताह में पूरा होने की संभावना है। अधिकारियों का कहना है कि इस अगले महीने के अंत तक लाईन का ट्रायल भी पूरा कर लिया जाएगा। इसके बाद यह लाईन सुचारू से काम करना आरंभ कर देगा। वहीं पावर हाऊस चौक पर दुकानों के निर्माण को हरी झंडी मिलते ही अधिकारियों ने पूरी योजना का खाका तैयार कर लिया है। प्रशासन के इस निर्णय से पहले जिन दुकानों का इस लाईन के चलते प्रभावित होना था, उनके मालिक बेहद परेशान थे और तनाव के चलते न्याय की मांग कर रहे थे। लेकिन अब प्रशासन ने उनके लिए भी नई दुकानों का निर्माण करने की नीति को हरी झंडी देकर बड़ा काम किया है। इससे पीडि़त लोगों ने भी राहत की सांस ली है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here