कांग्रेस ने चला बड़ा दांव, गुजरात की कमान पाटीदार नेता हार्दिक पटेल को सौंपी

0

New Delhi News (citymail news ) कांग्रेस खेमे से एक बड़ी खबर आ रही है। कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी ने पाटीदार नेता हाॢदक पटेल को गुजरात की कमान सौंप दी है। हार्दिक पटेल को गुजरात प्रदेश कांग्रेस कमेटी का अध्यक्ष बना दिया गया है। हार्दिक पटेल को कांग्रेस की कमान सौंपकर कांग्रेस ने गुजरात में बड़ा दांव चला है। हार्दिक को गुजरात में पाटीदार समुदाय का बड़ा नेता माना जाता है। पाटीदार आंदोलन का बड़ा सैलाब खड़ाकर हार्दिक पटेल रातों रात देश की राजनीति में बड़ा नाम बन गए थे। गुजरात की भाजपा सरकार के लिए उन्होंने पाटीदार आंदोलन खड़ा करके बड़ा संकट पैदा कर दिया था। लेकिन इस निर्णय के बाद गुजरात में पाटीदार समुदाय का बड़ा हिस्सा अब कांग्रेस के पाले में जा सकता है।

हार्दिक पटेल ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में पार्टी ज्वाइँन की थी। माना जा रहा है कि पाटीदार नेता हार्दिक पटेल को गुजरात कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया जाना एक सोची समझी राजनीति का हिस्सा है। वैसे भी हार्दिक काफी समय से कांग्रेस में हैं। उन्होंने गुजरात विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के तत्कालीन अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ मिलकर जोरदार तरीके से चुनाव प्रचार अभियान में हिस्सा लिया था। इसका परिणाम यह हुआ कि एक बारगी गुजरात में कांग्रेस की सरकार बनने की संभावना प्रबल हो गई थी। राहुल व हार्दिक पटेल की जुगलबंदी ने भाजपा के लिए बड़ा संकट पैदा कर दिया था। तब विधानसभा चुनाव बड़ी मुश्किल से भाजपा अपने पक्ष में कर पाई थी। इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अमित शाह एवं पूरी भाजपा को कड़ा संघर्ष करना पड़ा था। यदि ऐसा कहा जाए तो अतिश्योक्ति नहीं होगी कि राहुल गांधी व हार्दिक पटेल ने भाजपा व केंद्र सरकार को गुजरात में पानी पिलाने में कोई कसर बाकि नहीं छोड़ी थी।

हालांकि जब परिणाम आए तो बेशक भाजपा अपनी सरकार बनाने में सफल रही थी, मगर कांग्रेस के नतीजे भी उत्साह जनक ही माने गए थे। इस चुनाव के बाद हाॢदक पटेल गुजरात में कांग्रेस की राजनीति में व्यस्त थे। लेकिन अब कांग्रेस ने उन्हें अध्यक्ष बनाकर बड़ा दांव चला है। कांग्रेस का मानना है कि इससे गुजरात में जहां शिथिल पड़ी कांग्रेस में नई जान फूकंने में कामयाबी मिलेगी, वहीं हार्दिक के अध्यक्ष बनने से पाटीदार समुदाय का झुकाव भी उनकी तरफ हो जाएगा। वैसे भी इस समय गुजरात में कांग्रेस के पास कोई ऐसा दमदार नेता दिखाई नहीं दे रहा था, जिसे वहां की कमान सौंपी जाए सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here