चेतावनी: दिल्ली-एनसीआर में लगातार आ रहे भूकंप से सावधान रहें अधिकारी

0

Chandigarh News (citymail news ) राजस्व विभाग हरियाणा के अतिरिक्त मुख्य सचिव विजयवर्धन ने भूकंप जैसी आपदा के प्रबंधन को लेकर वीडिया कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा की। विडियो कान्फ्रेंसिंग में सेवानिवृत मेजर जनरल वी.के. दत्ता ने गुरूग्राम जिला से कनेक्टिड होकर आपदा के दौरान की जाने वाली तैयारियों की रूपरेखा रखते हुए उपायुक्तों व संबंधित अधिकारियों को ट्रेनिंग दी।  विजय वर्धन ने कहा कि पिछले कुछ समय में दिल्ली एनसीआर क्षेत्र में भूकंप के झटके महसूस किए जा रहे हैं, जोकि चिंता का विषय है। ऐसे में जरूरी है कि समय रहते इस दिशा में आवश्यक कदम उठाए जाएं। आपदा बिना किसी चेतावनी के अचानक आती है इसलिए जरूरी है कि हम समय रहते आपदा से निपटने को लेकर अपनी सभी प्रकार की तैयारियां व तंत्र मजबूत कर लें। उन्होंने कहा कि आपदा के समय प्रत्येक अधिकारी व कर्मचारी को अपनी ड्यूटी का पता होना अत्यंत आवश्यक है। हम सभी को आपदा के समय अपने उत्तरदायित्वों की जानकारी होनी चाहिए तभी हम भविष्य में इससे निपट सकते हैं।


ये भी पढ़ें-
फरीदाबाद से 2000 कोरोना मरीजों के गायब होनेे की खबर, देंखे पूरी रिपोर्ट

आपदा के समय एनडीआरएफ, आम्र्ड फोर्स, सीआरपीएफ, एयरफोर्स की आवश्यकता-

 आपदा के समय एनडीआरएफ, आम्र्ड फोर्स, सीआरपीएफ, एयरफोर्स आदि की आवश्यकता पड़ती है। किसी भी आपदा से निपटने के लिए हमे पहले से योजनाबद्ध तरीके से काम करने की जरूरत है कि क्या करना है और कैसे करना है।
उन्होंने कहा कि उपायुक्त अपने यहां आवश्यक सामान और उपकरणों की इंवेटरी तैयार कर लें। प्रत्येक जिला में सिविल डिफेंस व नेहरू युवा केन्द्रों के वालंटियर तथा स्वयंसेवी संस्थाएं कार्यरत है, इसलिए उनसे तालमेल बनाते हुए काम करें। अधिक से अधिक लोगों को भूकंप के दौरान डूज एंड डोन्टस के बारे में बताएं और इसकी जानकारी देने के लिए जागरूकता अभियान चलाएं। उन्होंने उपायुक्त को कहा कि वे भूकंप को लेकर बने हुए जिला के डिजास्टर मैनेजमेंट प्लान को रिव्यू करें और अधिकारियों के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करवाएं ताकि समय आने पर उन्हें पता हो कि उन्हें क्या और कैसे अपने उत्तरदायित्वों का निर्वहन करना है। उन्होंने कहा कि प्राइवेट संस्थानों के पास भी आपदा प्रबंधन से निपटने के लिए काफी इंवेटरी होती है, यदि हमारे पास इसकी सूची होगी तो समय आने पर हम इसका इस्तेमाल प्रभावी तरीके से कर सकते हैं।

डीसी फरीदाबाद ने बताई अपनी तैयारी-

उपायुक्त यशपाल कहा कि फरीदाबाद में आपदा प्रबंधन संबंधी तैयारियों को निरंतर मजबूत किया जा रहा है। इसके लिए पूरा प्लान तैयार किया गया है। सूचनाओं को निरंतर अपडेट किया जाता है। विडियो कान्फ्रेंसिंग में मेजर जनरल वीके दत्ता ने भूकंप सहित अन्य प्राकृतिक आपदा से निपटने को लेकर पावर प्वाइंट प्रैजेंटेशन दी। उन्होंने आपदा प्रबंधन के समय जिला प्रशासन द्वारा किए जाने वाले कार्यों को चरणबद्ध तरीके से समझाया। उन्होंने कहा कि आपदा के समय इंसीडेट रिस्पांस टीम की भूमिका अत्यंत महत्वपूर्ण होती है इसलिए जरूरी है सभी अधिकारियों व कर्मचारियों को अपनी ड्यूटी का पता हो कि उन्हें कैसे काम करना है। उन्होंने बैठक में एमरजेंसी आप्रेशन सैंटर, इंसीडेंट कमांड सैंटर, स्टेजिंग एरिया, राहत व बचाव कार्य, रिलीफ कैंप, इंसीडेंट रिस्पांस सिस्टम , मैडिकल सुविधाएं सहित अन्य महत्वपूर्ण बिंदुओं के बारे में विस्तार से बताया। इस विडियो कांफ्रेंस में अतिरिक्त उपायुक्त सतबीर मान, नगराधीश बलिना सहित संबंधित विभागों से अधिकारीगण उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here