शादी में खाने गए दावत, ले आए कोरोना, दूल्हा दुल्हन भी पॉजीटिव, देंखे हरियाणा की पूरी रिपोर्ट

0
- Advertisement -

Chandigarh News (citymail news ) एक विवाह समारोह में शामिल होकर वापिस आए लोगों को कोरोना ने जकड़ लिया। यह मामला है हरियाणा के सिरसा का, जहां के दस लोग कोरोना के जाल में फंस गए। जानकारी के अनुसार सिरसा के रहने वाले ये लोग हिसार में एक विवाह में शामिल होने के लिए गए थे। शादी से आने के बाद से उनकी तबियत खराब होने लगी थी। जब उन्होंने कोरोना टेस्ट करवाया तो उनमें कोरोना पॉजीटिव पाया गया। इनमें से पांच लोग भादरा बाजार व पांच लोग अग्रसेन कालोनी के रहने वाले हैं। स्वास्थ्य विभाग ने इनके कोरोना पॉजीटिव होने की पुष्टि की है। बताया गया है कि हिसार में आयोजित विवाह समारोह में शामिल होने के दौरान ही वह कोरोना पॉजीटिव के संपर्क में आए होंगे, जिसके बाद वापिस सिरसा लौटने पर उनमें कोरोना के लक्षण दिखाई दिए जाने की सूचना है। टेस्ट करवाने के बाद उनकी रिपोर्ट पॉजीटिव पाई गई है।

ये भी पढ़-: फरीदाबाद से फरार यूपी का गैंगस्टर विकास दुबे उज्जैन में कैसे हुआ गिरफ्तार

पॉजीटिव पाए गए दूल्हा-दुल्हन

इसी प्रकार से करनाल में भी एक नवविवाहित जोड़े ने जब अपना कोरोना टेस्ट करवाया तो वह भी पॉजीटिव पाए गए। बता दें कि सिरसा, हिसार व करनाल में कोरोना के तमाम केस सामने आ रहे हैं। सिरसा में जहां 160 के पॉजीटिव होने की सूचना है, वहीं हिसार में 292 और करनाल में 421 केस सामने आए हैं। इन इलाकों में पहले कोरोना की रफ्तार धीमी थी, मगर अब धीरे धीरे वहां भी कोरोना के तमाम नए केस सामने आ रहे हैं। सोनीपत की बात करें तो वहां 29 नए केस सामने आए हैं। सोनीपत ऐसा इलाका है, जोकि ना केवल दिल्ली से सटा हुआ है, बल्कि बढ़ते केसों की वजह से वह राज्य में तीसरे नंबर पर पहुंच गया है। सोनीपत में अब तक कोरोना से कुल 20 मौतें भी हो चुकी हैं। फिलहाल इस जिले में कुल 1677 केस पॉजीटिव भी हैं। रोहतक में 12 नए केस सामने आए हैं। इस जिले में 12 कोरोना पॉजीटिव लोगों की मौत के साथ कुल 772 पॉजीटिव केस हैं। इसके अलावा भिवानी में भी कोरोना का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है। इस जिले में 45 नए कोरोना के केस सामने आए हैं। इस जिले में कोरोना से 4 मौतें हो चुकी हैं तथा 543 केस सामने आ चुके हैं।

बढ़ रहा है कोरोना का प्रकोप
राज्य के इन सभी जिलों के साथ अन्य शहरों में भी कोरोना का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। हालांकि स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि वह अपने स्तर पर कोरोना को रोकने का हरसंभव प्रयास कर रहे हैं, लेकिन इसके बावजूद राज्य में कोरोना थमने का नाम नहीं ले रहा है। अब तो कई ऐसे भी लोग सामने आ रहे हैं, जिनमें कोरोना के लक्षण दिखाई तो नहीं देते, मगर उनके भीतर वायरस जरूर पाया जा रहा है। जोकि दूसरे लोगों के लिए भी खतरनाक साबित होने लगा है। यही वजह है कि कोरोना के वायरस एक से दूसरे शरीर में प्रवेश कर जाते हैं और पता तब चलता है, जब तबियत खराब होने लगती है। इसलिए डाक्टरों का कहना है कि मास्क के प्रयोग से काफी हद तक बचाव संभव है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here