फरीदाबाद में 3 दिन से था यूपी का ईनामी विकास दुबे, 3 बदमाश चढ़े पुलिस के हत्थे

0

फरीदाबाद। कानपुर के बिसरू गांव में 8 पुलिस वालों की हत्या का प्रमुख आरोपी विकास दुबे के फरीदाबाद में पिछले तीन दिन से रहने की बात सामने आ रही है। बताया गया है कि विकास दुबे अपने दो साथियों के साथ गे्रटर फरीदाबाद की न्यू इंदिरा कालोनी में अपने किसी रिश्तेदार के घर ठहरा हुआ था। लेकिन इसका खुलासा मंगलवार की शाम को तब हुआ, जब विकास दुबे अपने एक साथी प्रभात के साथ बडख़ल चौक पर स्थित ओयो होटल में कमरा लेने के लिए पहुंचा। हालांकि होटल कर्मचारियों की मानें तो उन्होंने आईडी कार्ड ना होने के चलते विकास दुबे को कमरा देने से मना कर दिया था। विकास दुबे ने होटल में कमरा लेने के लिए जो आईडी कार्ड दिया , वह किसी अंकुर नाम के व्यक्ति का था। उस पर ना तो अंकुर का पता था और फोटो भी साफ दिखाई नहीं दे रही थी।

  • विकास देना चाहता था दोगुना किराया

जब होटल कर्मचारी ने दूसरा पहचान पत्र मांगा तो विकास दुबे ने उन्हें 800 रुपए किराए की जगह 1600 रुपए देने का ऑफर भी दिया। जिस पर होटल कर्मचारी को कुछ शक हुआ। जिसके बाद उन्होंने कमरा देने में आनकानी की, जिसके बाद विकास दुबे वहां से चला गया। बताया गया है कि विकास दुबे के साथ एक बुलेरो गाड़ी भी थी। लेकिन कमरा ना मिलने के चलते विकास होटल से पैदल ही चला गया। सीसीटीवी कैमरे में उसके पैदल जाने की वीडियो भी सामने आ रही है। यह घटना करीब 12 बजे के आसपास की है। उसके तीन घंटे बाद फरीदाबाद क्राईम ब्रांच की कई टीमें होटल में पहुंची और वहां की तलाशी ली। बताया गया है कि इस दौरान पुलिस ने वहां से किसी प्रभात नाम के शख्स को भी गिरफ्तार किया है।

  • बचाव में चली गोली और गिरफ्तार हुआ प्रभात

मौके पर गोली चलने की बात भी सामने आई है। लेकिन पुलिस इससे इंकार कर रही है। बताया गया है कि विकास दुबे के साथ बिसरू हत्याकांड में शामिल रहे उसके कुछ साथियों को फरीदाबाद पुलिस ने गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। सूत्रों का कहना है कि गिरफ्तार आरोपी से 4 हथियार बरामद हुए हैं, जिनमें से दो पिस्तौल यूपी पुलिस की हैं। बताया गया है कि पुलिस ने विकास दुबे के तीन साथियों को गिरफ्तार किया है। फरीदबाद पुलिस गिरफ्तार किए गए विकास दुबे के गुर्गे प्रभात को अदालत में पेश कर रिमांड मांग सकती है। यूपी पुलिस के एडीजीपी स्तर के एक अधिकारी ने इसकी पुष्टि भी की है। बता दें कि विकास दुबे फिलहाल दिल्ली में सरेंडर करने की फिराक में है। इसके लिए वह वकीलों के संपर्क में भी है। पिछले तीन दिन से फरीदाबाद में रहकर वह वकीलों के संपर्क में था और दिल्ली में समर्पण की तैयारी में था। बताया गया है कि यूपी पुलिस उसका एनकाऊंटर करने की पूरी तैयारी कर चुकी है। इसलिए विकास दुबे दिल्ली एनसीआर में रहकर सरेंडर की कोशिशों में जुटा है। वहीं विकास दुबे की गिरफ्तारी को लेकर यूपी के साथ साथ दिल्ली, हरियाणा, उत्तराखंड व पंजाब की पुलिस भी सक्रिय हो गई है। इन राज्यों की पुलिस ने अपना पूरा नेटवर्क विकास दुबे की गिरफ्तारी में सक्रिय कर दिया है। बता दें कि ये वहीं विकास दुबे है जिसके तार कानपुर के बिसरू गांव में आठ पुलिस कर्मियों की नृशंस हत्या से जुड़े हुए हैं। विकास दुबे पर आरोप है कि उसने अपने गैंग के साथ मिलकर बिसरू गांव में आठ पुलिस वालों को बेरहमी से मार डाला है। फिलहाल तमाम कोशिशों के बावजूद विकास दुबे पुलिस की पकड़ से बाहर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here