फरीदाबाद में तेज हुई कोरोना की रफ्तार, स्वास्थ्य विभाग ने टेके घुटने

0
- Advertisement -

Faridabad News (citymail news ) फरीदाबाद जिले में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा। अब तो स्वास्थ्य विभाग भी कोरोना के सामने घुटने टेकता दिखाई देने लगा है। यही वजह है कि कोरोना टेस्ट लेने के बाद संदिगधों की कोई सुध नहीं ली जा रही है। यही नहीं बल्कि जिन लोगों को कोरोना पॉजीटिव होने के चलते घर पर आईसोलेट करने के लिए कहा गया है, वह भी शहर में खुलेआम घूमते दिखाई देते हैं। इस बात की शिकायत तमाम लोग कर रहे हैं। इसके साथ साथ कोरोना पॉजीटिव पाए जाने वाले घरों पर चेतावनी नोटिस लगाने का सिलसिला भी रूकता हुआ दिखाई देने लगा है। लोगों की शिकायत है कि उनके पड़ोस में पॉजीटिव पाए जाने के बावजूद चेतावनी नोटिस नहीं लगाए जा रहे हैं। इन हालातों को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही से लोग नाराज होने लगे हैं। जिले में कोरोना पॉजीटिव की संख्या भी तेजी से बढ़ती जा रही है। जिले में अब तक 92 लोग कोरोना बीमारी के चलते काल के गाल में समा चुके हैं। इसके अलावा प्रतिदिन काफी अधिक संख्या में पॉजीटिव केस आ रहे हैं। जिले में अब तक 4500 से अधिक लोग पॉजीटिव पाए गए हैं। वहीं स्वास्थ्य विभाग अपने ऊपर लगाए गए आरोपों को सिरे से नकार रहा है। विभाग का कहना है कि वह हरसँभव प्रयास कर कोरोना पर रोकथाम लगाने की कोशिशों में जुटे हैं।

विभाग के अनुसार लगातार कोरोना मरीजों की सेहत में सुधार हो रहा है।  उप सिविल सर्जन एवं जिला नोडल अधिकारी-कोरोना डा. रामभगत ने बताया कि जिला में अब तक 35100 यात्रियों को सर्विलांस पर लिया जा चुका है, जि नमें से 12085 लोगों का निगरानी में रखने का 28 दिन का पीरियड पूरा हो चुका है। शेष 22923 लोग अंडर सर्विलांस हैं। कुल सर्विलांस में रखे गए लोगों में से 30577 होम आइसोलेशन पर हैं। अब तक 27954 लोगों के सैंपल लैब में भेजे गए थे, जिनमें से 22946 की नेगेटिव रिपोर्ट मिली है तथा 485 की रिपोर्ट आनी शेष है। अब तक 4523 लोगों के सैंपल पॉजिटिव मिले हैं, जिनमें से 402 लोगों को अस्पताल में दाखिल किया गया है तथा 420 पॉजिटिव मरीजों को घर पर आइसोलेट किया गया है। इसी प्रकार ठीक होने के बाद 3609 मरीजों को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है। अब तक 92 मरीजों की मौत हो चुकी है। इसमें 78 मरीज क्रिटिकल हालत में अस्पताल में दाखिल किए गए हैं इसी के साथ 13 मरीजो को आईसीयू में रखा गया है । 68 ऐसे मरीज हैं जो 10 दिनों से ज्यादा से अस्पताल में दाखिल हैं आज जिले में 161 नए केस आए हैं जिसमें कोरोना के साथ-साथ अन्य विभिन्न बीमारियां भी कारण रही।

उन्होंने बताया कि सभी मेडिकल और पैरा मेडिकल स्टाफ को कोविड-19 की रोकथाम और प्रबंधन के लिए प्रशिक्षित किया गया है। इसी प्रकार पर्यावरण स्वच्छता और शुद्धीकरण के बारे में सरकारी व निजी विभागों के कर्मचारियों को दैनिक आधार पर प्रशिक्षण दिया जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस के संभावित संक्रमण की पृष्ठभूमि को देखते हुए आम जनता को सरकार द्वारा स्वास्थ्य संबंधी हिदायतों की अनुपालना करने की सलाह दी जाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here