फरीदाबाद के व्यापारियों पर चलेगा चाबुक, सीलिंग के लिए रहें तैयार,देंखे पूरी खबर

0

Faridabad News (citymail news ) कोरोना काल और लॉकडाऊन की मार से फरीदाबाद का व्यापारी अभी उभर भी नहीं पाया है कि अब उन पर नगर निगम की मार पडऩे वाली है। निगम ने व्यापारियों से टैक्स वसूली के फरमान जारी कर दिए हैं। हाल ही में ज्वाइंट कमिश्नर स्तरीय बैठक में फरीदाबाद के व्यापारियों से टैक्स वसूली के आदेश दिए गए हैं। टैैक्स ना देने वालों पर सीलिंग का चाबुक भी चलाए जाने का स्पष्ट हुक्मनामा सुनाया गया है। हालांकि निगम के अनेक अधिकारी अपने बॉस के आदेशों से इतेफाक नहीं रखते, मगर साहब के आदेश हैं तो उन्हें मानना ही होगा।

निगम के बड़े अधिकारी कहते हैं कि खजाना खाली है, कर्मचारियों को वेतन देना है और भी तमाम खर्च हैं, जिनकी पूर्ति के लिए राजस्व की जरूरत है। विकास के काम पूरी तरह से ठप्प हैं, जोकि बिना राजस्व के नहीं हो सकते। ऐसे में निगम को टैक्स चाहिए और उसके बिना गुजारा नहीं हो सकता। लेकिन दूसरी ओर आम शहरी व व्यापारी का कहना है कि मार्च के बाद से वह रोजगार के बिना घर बैठे हैं। उनके पास जो भी सैविंगस थी, वह घर बैठे उसे खा चुके हैं। अब तो उनके पास बच्चों की फीस देने के लिए पैसे नहीं हैं। ऐसे में वह निगम का टैक्स कहां से चुकाएंगे। लॉकडाऊन के चलते तमाम व्यवसाय पूरी तरह से ठप्प हैं। धीरे धीरे रोजगार चलेंगे तो वह टैक्स भी चुकाने के लिए तैयार हैं। लेकिन जबरन टैक्स लेना और वह भी सीलिंग की धमकी देकर , वह उनके साथ अन्याय होगा।

इसी बीच खबर आ रही है कि नगर निगम के कर्मचारी भी टैक्स वसूली को लेकर चुप्पी साधे हुए हैं। कर्मचारियों का कहना है कि टैक्स कलेक्शन सेंटर बंद पड़े हैं। निगम को खोल तो दिया गया है, मगर पब्लिक डीलिंग बंद है। ऑनलाईन के जरिए भी टैक्स कलेक्शन की सुविधा नहीं है। जो लोग टैक्स भरना चाहते हैं, वह किस माध्यम से टैक्स भरें। इसलिए निगम प्रशासन को पहले अपनी व्यवस्था को ठीक करना होगा। वहीं व्यापारी वर्ग का कहना है कि यह काम सख्ती से नहीं होगा।

निगम को टैक्स चाहिए तो उनके साथ नरमी से पेश आना होगा। नहीं तो यह एक बड़ा मुद्दा बन जाएगा। दुकानदारों को सीलिंग का डर दिखाकर टैक्स वसूल नहीं किया जा सकता। इसलिए निगम प्रशासन का यह कदम उठाना ठीक नहीं है। व्यापार मंडल के प्रधान जगदीश भाटिया , हरियाणा उद्योग व्यापार मंडल के जिलाध्यक्ष राम जुनेजा तथा व्यापारी एसोसिएशन के प्रधान अजय नौनिहाल ने कहा कि यदि व्यापारियों पर जबरन सीलिंग का चाबुक चलाया गया तो वह मुख्यमंत्री से शिकायत करेंगे। जिसका खामियाजा निगम प्रशासन को भुगतना होगा। निगम प्रशासन सयंम रखे, दुकानदार व व्यापारी वर्ग को अपने काम धंधों की शुरूआत करने दो, फिर सभी टैक्स भरने के लिए तैयार हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here