बड़ी खबर: हरियाणा, उत्तर प्रदेश व उत्तराखंड ने कावंड यात्रा पर लगाया प्रतिबंध

0

Chandigarh News (citymail news ) कोविड-19 के चलते उत्तराखंड सरकार, हरियाणा सरकार एवं उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा जनहित मे सामूहिक निर्णय के अंतर्गत इस वर्ष सावन माह में होने वाली कावड़ यात्रा पर पाबंदी लगाई गई है। कावड़ यात्रा की पाबंदी के संबंध में फरीदाबाद के पुलिस आयुक्त  ओम प्रकाश सिंह ने सभी डीसीपी, एसीपी ,थाना प्रभारी और चौकी इंचार्ज को अपने अपने एरिया में कावड़ यात्रा करने वाले श्रद्धालुओं को इस संबंध में अवगत कराने के दिशा निर्देश जारी किए है। उन्होंने कहा कि इस वर्ष सावन माह में जाने वाली पैदल कावड़ यात्रा एवं डाक कावड़ यात्रा को स्थगित किया गया है। इस वर्ष कावड़ यात्रा नहीं जाएगी। पुलिस आयुक्त ने कहा कि शिव भक्तों को स्वयं और दूसरों की सुरक्षा के लिए प्रशासन द्वारा लिए गए निर्णय का पालन करें। ट्रांसपोर्ट मालिकों को भी निर्देश दिए गए हैं कि वह किसी भी तरह का वाहन कावड़ यात्रा के लिए उपलब्ध नहीं कराएंगे। पुलिस आयुक्त ने कहा कि निर्देशों की पालना ना करने वालों के खिलाफ पुलिस कार्यवाही करेगी।

उल्लेखीनय है हर वर्ष सावन के महीने में देश भर में बड़े पैमाने पर कावंड यात्रा का आयोजन किया जाता है। देश भर से लाखों श्रद्धालु कावंड लाने के लिए उत्तराखंड के हरिद्धार जाते हैं। वहां से गंगा का जल लाकर महाशिवरात्रि के पावन अवसर पर भगवान भोले को स्नान करवाते हैं। इस दौरान देश भर में कावंड लाने वाले भक्तों के लिए जगह जगह सेवा शिविर लगाए जाते हैं। जहां भक्तों द्वारा कावंड लाने वालों की खूब सेवा पानी की जाती है। यही नहीं बल्कि कावंड लाने के लिए विभिन्न प्रदेशों की सरकारों द्वारा कावंड यात्रियों की सुरक्षा के लिए पुलिस की विशेष जिम्मेदारी भी लगाई जाती है। कई बार कावंड लाने वाले श्रद्धालुओं की सडक़ यात्रा के दौरान एक्सीडेंट से मृत्यु होने की भी घटनाएं होती हैं, जिसके बाद कावंडियों द्वारा जमकर उत्पात मचाया जाता है। कई दफा ऐसी बड़ी घटनाएं घटित हो चुकी हैं। कावंड यात्रा चलने तक प्रशासन व पुलिस के अधिकारी भी खासे परेशान रहते हैं। लेकिन कोरोना के चलते इस वर्ष तीनों प्रदेशों ने कावंड यात्रा पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here