कोरोना पर गुरूग्राम, फरीदाबाद, सोनीपत, रोहतक व झज्जर को लेकर केंद्र और हरियाणा चिंता में

0

Chandigarh News (citymail news ) हरियाणा के बड़े जिले और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के प्रमुख शहरों गुरूग्राम, फरीदाबाद, सोनीपत, रोहतक व झज्जर में बढ़ते कोरोना केसों को लेकर ना केवल राज्य सरकार बल्कि केंद्र सरकार भी चिंता में है। हरियाणा के इन पांच प्रमुख शहरों में कोरोना के केस बहुत तेजी से बढ़ रहे हैं। उन पर तमाम दावों के बावजूद अंकुश नहीं लग पा रहा है। यही वजह है कि केंद्र सरकार के निर्देश पर हरियाणा ने इन पांचों जिलों में कोरोना केसों को लेकर टेस्टिंग बढ़ाने का निर्णय लिया है। राज्य स्तरीय एक बैठक में मुख्यमंत्री मनोहर लाल व डिप्टी मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने इन जिलों को लेकर चिंता जाहिर की और साथ ही कहा कि हरियाणा का स्वास्थ्य विभाग हर स्तर पर बेहतर सुविधा उपलबध करवाने में सक्षम है। सरकार का कहना है कि इन पांचों जिलों में अब दिल्ली की तर्ज पर सुविधाएं मुहैया करवाई जाएंगी। डिप्टी सीएम ने चिंता जाहिर करते हुए कहा कि हाल ही में उत्तर प्रदेश में बिना लक्षण वाले 3 कोरोना मरीजों का चौबीस घंटे के भीतर अचानक आक्सीजन लेवल कम हो गया है और उनकी मौत हो गई। यह बेहद ही नाजुक व चिंता योगय है। उत्तर प्रदेश की घटना से सबक लेते हुए हरियाणा में ऐसी तैयारी होनी चाहिए कि बिना लक्षण वाले मरीजों को आक्सीजन की सुविधा उपलब्ध होनी चाहिए। उन्होंने आक्सोमीटर के जरिए मरीजों के आक्सीजन लेवल की जांच व उस पर नजर रखने की जरूरत पर जोर दिया है। उन्होंने बताया कि कोरोना पर लगाम लगाने के लिए हरियाणा, दिल्ली, तथा उत्तर प्रदेश मिलकर काम कर रहे हैं। उनके अनुसार हरियाणा में भी प्लाज्मा थैरेपी की सुविधा दी जा रही है और स्वास्थ्य विभाग इसके विस्तार पर काम कर रहा है। डिप्टी सीएम ने दावा किया कि हरियाणा में मरीजों के ठीक होने की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है। आईसीएमआर की गाईडलाईन के मुताबिक जितने बैड, आईसीयू चाहिएं, हरियाणा उनमें से 80 से 90 प्रतिशत तक मानकों पर खरा उतर रहा है। वहीं मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि सात दिनों के भीतर राज्य में कोरोना का रिकवरी रेट 70 से 75 प्रतिशत तक पहुंच गया है। एनसीआर के गुरूग्राम, फरीदाबाद, सोनीपत और झज्जर में सात दिनों के भीतर कोरोना के 2110 नए मामले सामने आए हैं। उन्होंने कहा कि 30 जून को एक अनुमान के अनुसार हरियाणा में कोरोना के 30 हजार मामले होने की संभावना थी, मगर आज यह दर मात्र 15000 तक ही पहुंच पाई है, इससे जाहिर है कि हरियाणा ने अपने यहां तमाम प्रबंध किए हैं। मुख्यमंत्री ने अपने राज्य में कोरोना को लेकर किए जा रहे प्रबंधों से केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को भी अवगत करवाया है तथा उन्हें बताया कि राज्य में सबसे अधिक प्रभावित जिलों में रेपिड टेस्टिंग की गति बढ़ा दी गई है। उन्होंने शाह को बताया कि राज्य में औद्योगिक गतिविधि भी सामान्य हो रही है। बिजली की खपत लगातार बढ़ रही है , जीएसटी कलेक्शन भी सामान्य होने लगा है। जल्द ही हरियाणा में सभी स्थितियां सामान्य होने की उम्मीद है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here