बदहाल हुआ फरीदाबाद : अब मुख्य चिकित्सा अधिकारी भी हुए कोरोना पॉजीटिव

0


Faridabad News (citymail news ) फरीदाबाद शहर कोरोना को लेकर किन हालातों में है, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि बादशाह खान अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधिकारी भी कोरोना की चपेट में आ गए हैं। कोरोना के नोडल अधिकारी डा. रामभगत ने इसकी पुष्टि की है। सीएमओ कृष्ण कुमार ने हाल ही में अपना कोरोना टेस्ट करवाया था ,जिसमें शनिवार को आई रिपोर्ट में वह पॉजीटिव पाए गए हैं। इससे पहले हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के प्रशासक व उनके परिजन भी कोरोना ग्रस्त पाए जा चुके हैं। हुडा प्रशासक के घरेलू नौकर को पहले कोरोना हुआ, जिसके बाद प्रशासक सहित घर के बाकि सदस्य भी उसकी चपेट में आ गए। लेकिन अब मुख्य चिकित्सा अधिकारी के चपेट में आने के बाद अंदाजा लगाया जा सकता है कि फरीदाबाद में कोरोना की स्थिति कितनी बदहाल होती जा रही है। फरीदाबाद में कोरोना का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा है। हर रोज नए नए मामले सामने आने से प्रशासन की चिंता बढ़ती जा रही है। शहर का ऐसा कोई कोना नहीं है, जहां से कोरोना के केस सामने नहीं आ रहे हों। मुख्य चिकित्सा अधिकारी के पॉजीटिव पाए जाने के बाद स्वास्थ्य सेवाओं में जुटे डाक्टर व कर्मचारी भी कहीं ना कहीं अपनी सतर्कता को लेकर चितिंत दिखाई देने लगे हैं। जबकि दूसरी ओर बाजारों में बढ़ती भीड़ को देखकर सोशल डिस्टेंस के सभी मायने फेल होते दिखाई दे रहे हैं। हालांकि प्रशासन ने कोरोना के प्रति सतर्कता बरतते हुए अभी तक जिले में धार्मिक स्थल, शिक्षण संस्थान एवं शापिंग मॉल पर लगाया गया प्रतिबंध नहीं हटाया है। इसके साथ ही रात को नौ बजे से लेकर सुबह पांच बजे तक का कफ्र्यू भी अभी जारी है। प्रशासन के अनुसार इन प्रतिबंधों की वजह से लोग एक जगह अधिक संख्या में एकत्रित नहीं हो पा रहे हैं, जिसका असर कोरोना की चेन पर पड़ रहा है। लेकिन फिर भी लोगों को अधिक से अधिक सतर्क रहने की जरूरत है। वहीं दूसरी ओर बादशाह खान अस्पताल में पहले भी कई कोरोना के केस सामने आ चुके हैं। कोरोना टेस्ट करने वाली लैब भी बंद रह चुकी है, जिसके चलते कई दिनों तक कोरोना के टेस्ट नहीं किए जा सके थे। मौजूदा स्थिति तक भी इस लैब में यह कार्य तेज रफ्तार नहीं पकड़ पाया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here